समाजसेवी रामदुलार यादव ने ड़ा0 अंबेडकर पार्क में मनाई ड़ा0 अंबेडकर की पुण्यतिथि



धनसिंह— समीक्षा न्यूज

साहिबाबाद। ड़ा0 अंबेडकर पार्क लाजपत नगर साहिबाबाद के प्रांगण में ड़ा0 अंबेदकर की पुण्यतिथि आयोजित की गयी, कार्यक्रम की अध्यक्षता समाज सेवी डी0 पी0 मौर्य ने किया, मुख्य वक्ता राम दुलार यादव  शिक्षाविद, समाजवादी चिंतक कार्यक्रम में शामिल रहे, सभी साथियों ने ड़ा0 अंबेदकर की मूर्ति पर माल्यार्पण और पुष्प अर्पित कर उन्हे स्मरण किया, गगन-भेदी नारे “जब तक सूरज, चाँद रहेगा, बाबा तेरा नाम रहेगा” लगाये गये, वक्ताओं ने उनके द्वारा देश, समाज, व्यक्ति के कल्याण के लिए रात-दिन संघर्ष करने की सराहना करते हुए आप के विचार से प्रेरणा ले जन-जन तक पहुंचाने के लिए संकल्प लिया। ड़ा0 राम मनोहर लोहिया पार्क में भी परिनिर्वाण दिवस का आयोजन किया गया, वहाँ “लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट” के संस्थापक/अध्यक्ष राम दुलार यादव डी0 पी0 मौर्य के सौजन्य से पुरुष कर्मचारियों में कंबल और महिला कर्मचारियों को गर्म शाल वितरित की गयी, 31 शाल और कंबल भेंटकर उन्हे सम्मानित किया गया।

समारोह को संबोधित करते हुए शिक्षाविद समाजवादी चिंतक राम दुलार यादव ने कहा कि ड़ा0 अम्बेदकर असाधारण विद्वान, विधिवेत्ता, समाज सुधारक, इतिहासकार, अर्थशास्त्री और बेजोड़ वक्ता थे, उन्होने जो अपमान, कष्ट और यातना झेली थी, डर, नफरत के वातावरण को देखा था, उन्होने संकल्प लिया था कि मेरे साथ दुर्व्यवहार, अन्याय, अत्याचार, शोषण हुआ है शिक्षा प्राप्त करने के बाद मै उपेक्षित, दलित, पिछड़ों, पीड़ित वर्ग के लिए काम करूंगा, उन्हे अन्याय, अत्याचार, शोषण से मुक्ति मिले, अधिकार दिलाऊँगा। बाबा साहेब ने संविधान में मौलिक अधिकारों की व्यवस्था की, कि कानून के समक्ष सभी बराबर है, समता, स्वतन्त्रता, न्याय, बंधुता व गरिमामय जीवन जीने का अधिकार दिलवाया, सामंतवादी, कट्टरवादी ताक़तें किसी प्रकार का शोषण न करें व्यवस्था की, मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए संवैधानिक उपचारों का अधिकार दिया, लेकिन आजादी के 75 वर्ष हो गये, आज संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है, लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, बाबा साहेब ने कहा कि हमने जो कारवां यहाँ तक लाया हूँ, उसे आगे बढ़ाना, यदि आगे न बढ़ा पाओ तो इसे यहीं छोड़ देना, लेकिन पीछे मत हटने देना, आज आवश्यकता है बाबा साहेब के कारवां को आगे बढ़ाने की, लेकिन बहुजन समाज के लोग जिनसे ड़ा0 अंबेदकर भी सशक्ति थे, वे विचार को निजी स्वार्थ में कमजोर कर रहे है, उससे उनका केवल निजी लाभ हो सकता है लेकिन जुल्म, अन्याय की लड़ाई पीछे रह जायेगी, जनता को संकल्प लेना चाहिए, बहुजन समाज के लोग जो बाबा साहेब के विचार को तिलांजलि दे रहे आप उनके बहकावे में न आ बाबा साहेब के विचार को आगे बढ़ाने वालों को ताकत प्रदान करें, बाबा साहेब ने सभी वर्गों के उत्थान के लिए कार्य किया, सभी वर्ग की महिलाओं को शिक्षा, समानता के साथ पैतृक संपत्ति में भागीदारी दिलवा उन्हे मुख्य धारा में लाने का कार्य किया, हमारी सच्ची श्रद्धांजलि यही ड़ा0 अंबेडकर के प्रति होगी, कि हम उनके विचार को जन-जन तक पहुंचायेँ। कार्यक्रम को डी0 पी0 मौर्य, ड़ा0 अशोक ने भी संबोधित किया।

कार्यक्रम में अर्जुन प्रधान, संजय यादव, एस0 पी0 सिंह, बिन्दु राय, मीना ठाकुर, रेनूपुरी, रंजन यादव, जग्गू यादव, रमेश गौतम, संतोष, प्रेम कुमार, आर0 के0 गुप्ता, राकेश कुमार, रणजीत कुमार, कौशल, प्रदीप कुमार, सुरेन्द्र यादव, गुड्डू यादव आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।