गोरखपुर सहित उ0प्र0 विकास और सुशासन के नए प्रतिमान स्थापित कर रहा: मुख्यमंत्री



समीक्षा न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद गोरखपुर के महंत दिग्विजयनाथ पार्क में आयोजित प्रबुद्धजन सम्मेलन में 950 करोड़ रुपये की 04 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। सम्मेलन में लोगों को सम्बोधित करते हुए उन्हांेंने कहा कि समाज को जागरूक करने में प्रबुद्धजन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। गोरखपुर सहित उत्तर प्रदेश विकास और सुशासन के नए प्रतिमान स्थापित कर रहा है। विगत साढ़े पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश की छवि बदली है। उत्तर प्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से निकलकर विकसित राज्यों की श्रेणी की ओर अग्रसर होते हुए, देश की नम्बर एक अर्थव्यवस्था बनने की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि हमारा प्रदेश देश की अर्थव्यवस्था में योगदान देकर ग्रोथ इंजन के लिये अपने आप को तैयार कर रहा है। आने वाले समय में हमारे नौजवानों को अपनी नौकरी और रोजगार के लिए किसी दूसरे देश या प्रदेश में नहीं जाना पड़ेगा, बल्कि दूसरे देश और प्रदेश के नागरिकों को रोजगार के लिये उत्तर प्रदेश में आना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अपने प्रदेश, जनपद एवं अपने देश को आगे बढ़ाने के लिये यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया जाएगा। इसका लक्ष्य प्रदेश में 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक निवेश और उसके माध्यम से एक करोड़ युवाओं को प्रदेश के अन्दर रोजगार के साथ जोड़ना है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सकारात्मक ऊर्जा हमेशा आगे बढ़ाती है। सकारात्मकता व्यक्ति को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है। इसी सकारात्मकता का ही परिणाम है कि आज प्रदेश ने सुशासन और बेहतर कानून व्यवस्था के माध्यम से देश में अपने आपको स्थापित किया है। गोरखपुर का उदाहरण आप सभी के सामने है। पिछले पांच साल के अन्दर गोरखपुर की बदली हुई छवि को देखा है। आज आप जहां पर जाएंगे, वहां पर गोरखपुर का नाम लेते ही लोगों के मन में सम्मान का भाव आपके प्रति होता है। इस सम्मान को बरकरार रखना हर नागरिक का दायित्व है। उन्होंने कहा कि मेरे नगर, कस्बे, गांव, प्रदेश और देश के सम्मान के प्रति लोगों के मन में अच्छा भाव पैदा हो, इसकी जिम्मेदारी हर व्यक्ति की बनती है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि दुनिया में आज उर्वरक की भारी किल्लत है। लेकिन प्रधानमंत्री जी के विजनरी नेतृत्व में भारत में इसकी आपूर्ति सुनिश्चित की गई है। जो उर्वरक कारखाने बन्द हो चुके थे, उन्हंे चलाने का कार्य किया गया। वर्ष 1990 में गोरखपुर का खाद कारखाना बन्द हो गया था। वर्तमान में यह 105 फीसदी की दर से उर्वरक उत्पादन कर रहा है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बी0आर0डी0 मेडिकल कॉलेज की पूरी तस्वीर बदल चुकी है। हर प्रकार की स्वास्थ्य सुविधाएं वहां पर उपलब्ध हैं। इसके अतिरिक्त, गोरखपुर एम्स ने भी अपनी स्वास्थ्य सेवाएं देना प्रारम्भ कर दिया है। गोरखपुर देश के चुनिन्दा शहरों मंे से है, जो शिक्षा के हब के रूप में स्थापित हो रहा है। यहां पर कनेक्टविटी बेहतर हुई है। यहां के हर एक मार्ग को 2-लेन से 4-लेन में, सिंगल लेन को डबल लेन में, 4-लेन को 6-लेन में बनाने की कार्यवाही युद्धस्तर पर हो रही है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी को समाप्त करने के लिए गोरखपुर और पूर्वी उत्तर प्रदेश में बेहतरीन सेण्टर दिए गए हैं। इंसेफेलाइटिस की बीमारी के कारणों के समाधान के लिए स्वच्छ भारत मिशन और नमामि गंगे परियोजना की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। गोरखपुर में रामगढ़ताल, फिल्म शूटिंग का बेहतरीन सेण्टर बन गया है। विभिन्न भाषाओं की फिल्मों की शूटिंग यहां हो रही है।  गोरखपुर में बिजली आपूर्ति में व्यापक सुधार हुआ है। 

गोरखपुर के शहरी क्षेत्र में 32 हजार लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास के लिये प्रत्येक परिवार को ढाई लाख रुपये की सुविधा प्रदान की गयी है। 19,000 पटरी व्यावसायियों को ब्याज मुक्त ऋण की सुविधा उपलब्ध हुई है। गोरखपुर में आज व्यापक पैमाने पर रोजगार के अवसर उपलब्ध हैं। निवेश भी व्यापक पैमाने पर हो रहा है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि देश में प्रधानमंत्री जी ने मिशन रोजगार अभियान प्रारम्भ किया है। अग्निवीर के भर्ती कार्यक्रम प्रारम्भ हो चुके हैं। 05 लाख से अधिक नौजवानों को सरकारी नौकरी मिल चुकी है। मिशन रोजगार के अन्तर्गत लगातार नौकरियां मिल रही हैं। विकास का यह क्रम निरन्तर चलता रहे, क्योंकि विकास ही हम सभी के जीवन में परिवर्तन लाने का कार्य करेगा। विकास की इस प्रक्रिया के साथ हम सबको जुड़कर आने वाली पीढ़ी के भविष्य को अधिक उज्ज्वल बनाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए।

इस अवसर पर सांसद श्री रवि किशन, सांसद डॉ0 राधा मोहन दास अग्रवाल, सांसद श्री कमलेश पासवान, पूर्व केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री श्री शिव प्रताप शुक्ला,  एम0एल0सी0 श्री धर्मेन्द्र सिंह, अधिवक्ता श्री अभिताभ त्रिपाठी अटल, चैम्बर ऑफ इण्डस्ट्रीज के पूर्व अध्यक्ष श्री एस0के0 अग्रवाल, श्री अतुल सर्राफ, प्रो0 आर0सी0 श्रीवास्तव, चिकित्सक डॉ0 आर0पी0 त्रिपाठी ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधिगण तथा वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री जी द्वारा आज जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया, उनमें जनपद गोरखपुर में नौकायन से देवरिया बाईपास शिव मन्दिर तथा वाणिज्य कर भवन तक 4-लेन चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य तथा देवरिया बाईपास रोड का 4-लेन चौड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण कार्य शामिल हैं। इसके अलावा, उन्होंने ट्रान्सपोर्ट नगर चौराहे से देवरिया बाई पास तिराहा होते हुए पैडलेगंज की तरफ 6-लेन फ्लाईओवर के निर्माण तथा अतिरिक्त 4-लेन द्वारा देवरिया बाईपास रोड की तरफ जोड़ने हेतु फ्लाईओवर के शिलान्यास के साथ-साथ राप्ती नदी में गिरने वाले कटनिया/महेवा नाले हेतु इन्टरसेप्शन, डायवर्जन एवं ट्रीटमेण्ट की योजना की भी आधारशिला रखी।