तिब्बती चिकित्सा पद्धति को आयुष मंत्रालय में शामिल किया जाए-भारत तिब्बत समन्वय संघ



समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। एकजुट होकर दो दिवसीय नई दिल्ली के विश्व युवक केंद्र, चाणक्यपुरी में आयोजित दो दिवसीय तिब्बत समर्थक भारतीय संगठनों का 7वें सम्मेलन के अवसर पर तिब्बत की आजादी व कैलाश मानसरोवर की मुक्ति के लिए संकल्पित अंतर्राष्ट्रीय संगठन यानी भारत तिब्बत समन्वय संघ का प्रतिनिधि मण्डल भी सम्मलित हुआ। जिसमे तिब्बत  सरकार के माननीय राष्ट्रपति श्री पेंपा सेरिंग सिकयोंग कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक श्री इन्द्रेश कुमार , विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। 



इस दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान भारत तिब्बत समन्वय संघ के केन्द्रीय संयोजक श्री हेमेंद्र प्रताप सिंह तोमर  जी ने संघ द्वारा बनाये गए अपने गत वर्ष के 17 प्रस्तावों को उनके समक्ष प्रस्तुत किया। जिससे तिब्बती नागरिकों को भारत द्वारा विभिन्न प्रकार की सुविधा से लेकर तिब्बती चिकित्सा पद्धति को आयुष मंत्रालय में शामिल करने तक की बात उनके द्वारा कही गयी। दो दिवसीय इस सम्मलेन में देश व विदेश भर से लोग सम्मलित हुए। जिसमे भारत तिब्बत समन्वय संघ की ओर से  केंद्रीय परामर्शदात्री समिति के माननीय सदस्य व मदुरई (तमिलनाडु) से आए  इसरो के पूर्व प्रमुख वैज्ञानिक डॉ सिवा सुब्रमणियन, केंद्रीय संयोजक श्री हेमेन्द्र तोमर जी, केंद्रीय अनुशासन समिति के माननीय सदस्य व गुरुग्राम से आए सीएसडी कंटीन के पूर्व DGM श्री राकेश कुलश्रेष्ठ जी, उना (हिमाचल प्रदेश) से माननीय राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री विवेक कुमार जी, वाराणसी से राष्ट्रीय महामंत्री श्री अरविंद केशरी  जी व बंगलुरु से राष्ट्रीय महामंत्री ले. कर्नल श्रीनिवास राव जी, गुरुग्राम से राष्ट्रीय अध्यक्ष (महिला विभाग) श्रीमती नामग्याल सेकी जी,  भोपाल से राष्ट्रीय महामंत्री (महिला विभाग) सुश्री राजो मालवीय जी, गांधीनगर (गुजरात) से डॉ यज्ञा जोशी जी , उत्तर क्षेत्र की क्षेत्रीय अध्यक्ष महिला विभाग श्रीमती संध्या सिंह जी, उत्तर क्षेत्र के अध्यक्ष श्री संदीप त्यागी 'रसम' जी, लखनऊ से राष्ट्रीय प्रभारी (प्रकाशन प्रभाग) श्री धर्मेंद्र प्रताप सिंह तोमर  गाजियाबाद से राष्ट्रीय मंत्री (युवा) तेजस चतुर्वेदी  दिल्ली से राष्ट्रीय मंत्री (युवा) श्री कुनाल यादव जी, और दिल्ली के प्रांत अध्यक्ष (युवा) श्री मुकुल गुप्ता जी, रविकांत जी व अन्य लोग उपस्थित रहे।