दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण के लिए एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास को लखनऊ में किया गया सम्मानित




नेटवर्क

गाजियाबाद। कुछ अधिकारी ऐसे होते हैं जो व्यक्तिगत रुचि लेकर समाज के निर्बल वर्ग व असहाय लोगों की मदद करने में सदैव आगे रहते हैं। ऐसे ही अधिकारी के रूप में गाजियाबाद की अपर जिलाधिकारी प्रशासन ऋतु सुहास विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से दिव्यांगजनों का मनोबल बढ़ाने का न केवल कार्य कर रही हैं बल्कि दिव्यांगजनों के बीच अपनत्व का भाव भी पैदा करने का काम कर रही हैं। इसी के लिए उन्हें आज विश्व दिव्यांग दिवस के मौके पर दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग की ओर से पुरस्कृत किया गया। यह एक बड़ी उपलब्धि है जो गाजियाबाद जनपद के नाम जुड़ी है और जनपद का नाम पूरे प्रदेश और देश में रोशन हुआ है। दिव्यांगजनों के कल्याण और उनके सशक्तिकरण व पुनर्वास के गठित समिति द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद जनपद को पहले नंबर पर घोषित किया गया। एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास को सम्मानित करने के लिए लखनऊ आमंत्रित किया गया था। आज शनिवार को दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग की ओर से आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह डाक्टर शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ में आयोजित किया गया जिसमें एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास को प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया गया। एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास ने जनपद गाजियाबाद में दिव्यांगजन को सशक्त एवं बाधामुक्त वातावरण प्रदान व उनको आत्मविश्वास भाव सृजन के लिए समावेशी लोकतंत्र की ओर प्रेरित किया तथा कांवड़ यात्रा के दौरान उन्हें समानता एवं गर्व का अनुभव हो, ऐसे सुंदर प्रयास किए कि सभी जनपदवासियों ने उनके इन कार्यों की खूब प्रशंसा की। गत विधानसभा चुनाव के दौरान एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास द्वारा जनसहयोग के माध्यम से 60 दिव्यांग बूथ बनाए गए जिन पर दिव्यांगजनों ने मतदान किया। मतदान करने के बाद सभी दिव्यांजनों को बूथ पर ही सम्मानित किया गया। जनपद के सभी बूथ बाधामुक्त बनाए गए। जनपद में दिव्यांगजनों के लिए ब्रेल लिपि में मतदान पर्ची बनवाने का काम किया गया, लेखपालों के माध्यम से ऐसी मतदाता पर्चियों को दिव्यांगजनों को वितरित कराया गया। यह एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास का ही प्रयास था कि जिले में 12375 दिव्यांग मतदाता बनाए गए।  दिव्यांगजनों को प्रोत्साहित करने के लिए 26 जनवरी, 2022 को उनके साथ झांकी निकाली गई। वेबिनार और टॉक शो का आयोजन किया गया। दिव्यांजनों के लिए पोस्टल बैलेट की भी सुविधा दिलाई गई। गत विधानसभा चुनाव में 823 दिव्यांगों द्वारा पोस्टल बैलेट से घर बैठे ही मतदान किया गया। कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ मित्र बनाए गए, यू ट्यूब वीडियो के माध्यम से संदेश व अधिकारियों के नंबर जारी किए गए और दिव्यांग कांवड़ियों का जिले में भव्य स्वागत किया गया। दिव्यांगजन कांवड़ियों की सुविधा के लिए रैंपयुक्त मोबाइल टायलेट जगह-जगह लगाए। ऐसी सुंदर व्यवस्था से प्रभावित होकर दिव्यांगजनों को जनपद की सीमा में आने व सीमा समाप्त होने पर अपनत्व का अहसास कराने वाली एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास ने स्पेशल बच्चों के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों में रैंपवाक भी किया और उन्हें उपहार भेंट किए। दिव्यांगजनों के प्रति उनके स्नेह और अपनत्व व प्रोत्साहन को देखते हुए ही उन्हें यह सम्मान प्रदान किया गया। गौरव दयाल अपर जिला सूचना अधिकारी गाजियाबाद।