सपनावत के मां वैष्णो देवी मंदिर में दर्शन के लिए आते हैं देश भर से श्रद्धाल


धनसिंह—समीक्षा न्यूज

गाजियाबाद। हापुड के गांव सपनावत का माता वैष्णो देवी धाम मंदिर क्षेत्र सहित पूरे देश में अपनी अलग पहचान बना चुका है। कटरा की तर्ज पर बने मंदिर में मां वैष्णो के दर्शन कर उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए दिल्लीएनसीआर ही नहीं देश भर से श्रद्धालु आते हैं। कोरोना काल में मंदिर में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए मां वैष्णो के दर्शन कराए जा रहे हैं। मां वैष्णो देवी का यह मंदिर सपनावत ही नहीं हापुड जनपद की भी अलग पहचान बनाने में सफल हुआ है। तो इसका श्रेय मंदिर के संस्थापक चेयरमैन भाजपा के महानगर कोषाध्यक्ष संजीव गुप्ता को जाता है। जिन्होंने स्थानीय लोगों के सहयोग से मां वैष्णो के भव्य मंदिर को बनवाया। मंदिर के निर्माण की भी अपनी कहानी है। मंदिर के संस्थापक चेयरमैन भाजपा के कोषाध्यक्ष संजीव गुप्ता बताते हैं कि 10 वर्ष पहले मां वैष्णो ने सपनों मे दर्शन देकर कहा था कि वे चाहती हैं कि यहां पर उनका मंदिर बनें। इस पर क्षेत्र के लोगों से चर्चा की गई और उनसे मां की इच्छा के बारे में बताया गया तो सभी सहर्ष ही मंदिर निर्माण के लिए तैयार हो गए। सभी का कहना था कि मां वैष्णो यहां विराजमान होना चाहती हैं, तो इससे बढकर सौभाग्य की और क्या बात हो सकती है। यह उनके पूर्व जन्म के अच्छे कर्मों का ही फल होगा कि वे मां के मंदिर निर्माण के साक्षी बनेंगे। इसके बाद भूमि पूजन कर मंदिर निर्माण शुरू कर दिया गया। मंदिर के निर्माण में सात वर्ष का समय लगा। इसे जम्मू के कटरा के विश्व प्रसिद्ध मां वैष्णो देवी के मंदिर की तर्ज पर ही बनवाया गया। मंदिर में कटरा के मंदिर जैसी ही गुफा का निर्माण भी कराया गया। आज यह मंदिर देश भर में अपनी अलग पहचान बना चुका है। दूर-दूर से श्रद्धालु यहां मां वैष्णो देवी की पूजा-अर्चना करने के लिए आते हैं। सच्चे मन से पूजा-अर्चना करने वाले श्रद्धालुओं की हर प्रकार की मनोकामना भी पूरी होती है।